Monday, August 9, 2010

Hindi Khabar : पाक के स्वतंत्रता दिवस को एकता दिवस के तौर पर मनाएं कश्मारी, गिलानी ने उगला ज़हर

Hindi Khabar : पाक के स्वतंत्रता दिवस को एकता दिवस के तौर पर मनाएं कश्मारी, गिलानी ने उगला ज़हर

श्रीनगर, 9 अगस्त। हुर्रियत नेता अली शाह गिलानी ने कश्मीरियों से कहा है कि आप पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस (14 अगस्त) को 'एकता दिवस' और भारत के स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) को 'काला दिवस' के रूप में मनाएं। इधर, गिलानी के गृहमंत्री पी. चिदंबरम के बातचीत के प्रस्ताव को ठुकराने के एक दिन बाद अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारुख ने भी बातचीत को निर्रथक बताया है। उमर ने कहा कि कश्मीर मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार गंभीर नहीं है।

इस बीच हुर्रियत नेता गिलानी ने कहा कि 'नई दिल्ली' को अपने उस वादे को निभाना चाहिए, जिसमें उसने कश्मीरियों को आत्मनिर्णय का अधिकार देने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू ने 1948 में कश्मीरियों के वादा किया था कि वह उन्हें आत्मनिर्णय का अधिकार देंगे, लेकिन इस वादे को कभी पूरा नहीं किया गया। गिलानी ने कहा कि नेहरू ने हमें आसमान दिखाया, लेकिन पैरों तले की जमीन तक छीन ली गई।
गिलानी ने कश्मीरियों से कहा है कि आप पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस (14 अगस्त) को 'एकता दिवस' के रूप में मनाएं और भारत के स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) को 'काला दिवस' के रूप में मनाएं।

उधर मीरवाइज ने कहा कि बातचीत की खातिर विश्वास बहाली के लिए घाटी से सैनिकों को हटाया जाए, दमनकारी कानूनों को खत्म किया जाए और राजनीतिक कैदियों को रिहा किया जाए। लेकिन, अफसोस भारत सरकार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है।

No comments:

Post a Comment