Monday, August 9, 2010

Hindi Khabar : उगाही के लिए बनाया सेक्स वीडियो, 21 साल की लड़की की काली करतूत

उगाही के लिए बनाया सेक्स वीडियो, 21 साल की लड़की की काली करतूत

नई दिल्ली. NNI. 9 अगस्त। क्रिकेट मैचों पर सट्टेबाजी में भारी रकम गंवा चुके एक कारोबारी ने नुकसान की भरपाई के लिए एक नायाब रास्ता खोज लिया। उसने एक लड़की से सांठगांठ कर दूसरे कारोबारी को जाल में फंसाकर उसका सेक्स विडियो तैयार कर लिया। लेकिन 30 लाख रुपये की उगाही करने के दौरान लड़की समेत चार मुलजिम गिरफ्तार कर लिए गए।
ये वारदात आउटर दिल्ली के प्रशांत विहार इलाके में हुई। यहां मंगोलपुरी इंडस्ट्रियल एरिया में प्लास्टिक के सामान बनाने की फैक्ट्री के मालिक की जान-पहचान राहुल गोयल (24) से थी। राहुल गोयल पीतमपुरा में रहता है। वह नरेला इंडस्ट्रियल एरिया में प्लास्टिक पाइप बनाने की फैक्ट्री का मालिक है। राहुल को क्रिकेट मैचों पर सट्टेबाज़ी का शौक था। इसी दौरान उसकी जान-पहचान मंगोलपुरी इंडस्ट्रियल एरिया वाले बिजनेसमैन से हुई थी। इस सट्टेबाजी में उसे लाखों का नुकसान हो गया। इसके अलावा उसे इन्वेस्टमेंट में भी नुकसान उठाना पड़ा।

राहुल अपनी आर्थिक हालत को पटरी पर लाने की कोशिश कर रहा था। उसे मंगोलपुरी इंडस्ट्रियल एरिया वाले बिजनेसमैन की याद आ गई। राहुल को मालूम था कि उनकी माली हालत बहुत बढि़या है। राहुल ने उन्हें किसी तरह फंसाकर उनसे उगाही का प्लान तैयार किया। उस योजना को अमली जामा पहनाने के लिए किसी लड़की की जरूरत थी। राहुल की जान-पहचान आनंद पर्वत में रहने वाली सोनम (बदला नाम, 21 साल) से थी। उसने सोनम से बात की। वह पैसा लेकर उसके प्लान में शामिल होने के लिए तैयार हो गई।

प्लान का पहला चरण पूरा होने के बाद राहुल ने अपने रिश्ते के भाई आशीष अग्रवाल से बात की। सरस्वती विहार में रहने वाला आशीष शाहबाद डेरी इलाके में कॉल सेंटर चलाता है। वह और राहुल आपस में अच्छे दोस्त भी थे। राहुल की प्लानिंग उसे बहुत पसंद आई। वह भी शामिल हो गया। अब इन तीनों को स्पाई कैमरे और फर्जी आईडी पर लिए गए सिम कार्डों की जरूरत थी। विनोद अरोड़ा पश्चिम विहार के डीडीए मार्केट में मोबाइल एक्सेसरीज की दुकान चलाता है। राहुल ने उसे अपना प्लान बताया। वह भी इसमें शामिल होने के लिए तैयार हो गया। विनोद ने फर्जी पहचान पत्रों के आधार पर कई सिम कार्ड राहुल को मुहैया करा दिए।

जुलाई में सोनम ने टारगेट किए गए बिजनेसमैन के मोबाइल नंबर पर मिस कॉल की। थोड़ी देर बाद उधर से कॉल आ गई। सोनम ने उन्हें मीठी - मीठी बातों में उलझा लिया। सोनम की उम्मीद से उलट उस नौजवान ने जाल में फंसने में ज्यादा वक्त नहीं लगाया। रेस्तराओं में मुलाकातों का सिलसिला शुरू हो गया , जो जल्द ही होटल के बंद कमरे तक पहुंच गया। मिस्ड कॉल से शुरू हुई इस दास्तान को प्रशांत विहार के होटल के कमरे तब पहुंचने में महज सात दिन लगे। प्रशांत विहार के होटल के कमरे में राहुल ने पहले ही तैयारी कर ली थी। इस होटल का प्रस्ताव लड़की ने किया था , जिसे युवा बिजनेसमैन ने खुशी - खुशी मान लिया। कमरे में दोनों के क्रियाकलाप को स्पाई कैमरे ने रिकॉर्ड कर लिया। यह कैमरा स्कोडा कार की चाबी की चेन में फिट किया गया था। लड़की को राहुल ने पेमेंट दे दिया।

अब शुरू हुआ ब्लैकमेलिंग का सिलसिला। सोनम ने उस बिजनेसमैन को एक सेलफोन गिफ्ट भिजवाया। उस फोन के मेमरी कार्ड में उस विडियो का कुछ हिस्सा लोड था। उसे देखते ही उस बिजनेसमैन को असलियत की जानकारी हुई। अब सोनम, राहुल और आशीष ने उसे 30 लाख रुपये देने को कहा। रकम न देने पर विडियो उसके घर भेजने की धमकी दी गई।

उस बिजनेसमैन ने क्राइम ब्रांच में कंप्लेंट दी। अडिशनल कमिश्नर नीरज ठाकुर के मुताबिक , क्राइम ब्रांच ने एक्सटॉर्शन और आपराधिक साजिश के तहत केस दर्ज कर लिया। पुलिस से सलाह कर वह बिजेनसमैन 50 हजार रुपये की पहली किस्त देने को तैयार हो गया। इसी दौरान इंस्पेक्टर जितेंद्र कुंडू की टीम ने रोहिणी में राहुल गोयल , सोनम और आशीष अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया। तीनों राहुल की होंडा सिटी कार में सवार होकर रकम लेने आए थे। बाद में विनोद अरोड़ा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। कार की चाबी में छिपाया गया स्पाई कैमरा, लैपटॉप, सिम कार्ड, मोबाइल फोन और विडियो रिकॉर्डिंग भी जब्त कर ली गई है।

No comments:

Post a Comment